February 23, 2024
WhatsApp Group Join Now

सरसों: सीमित घटबढ़,सरसों : मंदे के आसार कम, सरसो की तेजी मंदी रिपोर्ट

सरसों साप्ताहिक रिपोर्ट – हैलो किसान भाइयों सब को सुबह कि राम राम आज हम 3 जूलाई 2023 को एक बार फिर नई जानकारी लेकर हाजिर हुए हैं, आशा करते हैं कि जानकारी आपके लिए यूजफुल होगी, इस पोस्ट के माध्यम से सरसों , सरसों रेट, बिनोला तेल, देसी घी, सोयाबीन तेल, कि साप्ताहिक रिपोर्ट के माध्यम से तेजी मंदी के बारे में जानकारी प्राप्त करेगे , हर रोज ताजा मंडी भाव व अन्य जानकारी के लिए हमारी वेबसाइट पर विजिट करें, धन्यवाद आपका दिन शुभ हो
www. haryanamandibhav.com

सरसों: सीमित घटबढ़

सरसों उत्पादक क्षेत्रों से आवक कम होने के कारण व तेल मिलों की मांग से लारेंस रोड पर सरसों के रेट गत सप्ताह के बिच 5100/5150 से बढ़कर 5450/5500 रूपये प्रति कुंतल देखने को मिला । नजफगढ़ मंडी में इसके भाव 4900/5000 रुपए प्रति कुंतल बोले गए। जयपूर में 42 प्रतिशत कंडीशन सरसों के भाव 5650 रूपए तथा आगरा में इसके भाव 6050 रुपए प्रति क्विंटल हो गए। आपूर्ति व मांग को देखते हुए इसमें और ज्यादा घटबढ़ की उम्मीद नहीं है

देसी घी- कुछ दिन ठहराव रहेगा

प्लांट पूरी तरह बंद हो जाने से मक्खन का उत्पादन भी बंद हो गया है। दूसरी ओर कंपनियों में तैयार देसी घी का स्टॉक अब धीरे-धीरे निकलने लगा है, इसलिए प्रीमियम क्वालिटी के देसी घी 7500/7600 रुपए प्रति टीन पर आकर ठहर गए हैं। कंपनियां वर्तमान भाव से महंगा बोल रही हैं, लेकिन अभी कुछ दिन गर्मी बढ़ने से खपत अनुकूल नहीं रहेगी, जिससे बाजार में स्थिरता बनी रहने की संभावना है, लेकिन घटने की गुंजाइश पूरी तरह समाप्त हो गई है।

सोयाबीन तेल : ज्यादा तेजी नहीं

शिकागों सोया तेल वायदा में आई. तेजी के कारण बिकवाली घटने गत सप्ताह के दौरान सोया रिफाइंड तेल के भाव 9700 से बढ़कर 10400 रुपए प्रति क्विंटल हो गए। आयातको की बिकवाली घटने से कांदला में इसके भाव 700 रुपये बढ़कर 9450 रुपये प्रति क्विंटल हो गए। एमपी, महाराष्ट्र, राजस्थान मे स्टॉकिस्टों की बिकवाली घटने से सोयाबीन की कीमतों में मजबूती का रूख रहा। हाल ही में आई तेजी व मांग को देखते हए इसमें और ज्यादा बढ़ने की गुंजाइश है।

सरसों : मंदे के आसार कम

ग्राहकी निकलने से हाल ही में सरसों के भाव 400 रूपए प्रति कुंतल बढ़ गए। भविष्य में भी इसमे गिरावट की संभावना नहीं है।
आप सुधी पाठकों को समय-समय पर सरसों की तेजी मंदी के बारे में खबरें पढ़ने को मिलती रहती हैं इसी तारतम्य ताजा सर्वे के अनुसार घटे भाव पर तेल मिलों की पूछ परख निकलने तथा स्टोक्स्टो की बिकवाली घटने से एक पखवाड़े के दौरान सरसों के भाव निचले स्तर से 400 रूपये बढ़कर लारेंस रोड पर 5450/5500 रुपए प्रति क्विंटल हो गए। नजफगढ़ मंडी में इसके भाव लूज में 4800 / 4900 रुपए प्रति क्विंटल बोले गए। सीजन शुरू होने से लेकर अब तक सरसों के भाव ऊपर वाले भाव से 1500 रुपए प्रति कुंतल लुढ़क गए हैं। जयपुर में 42 प्रतिशत कंडीशन सरसों के भाव ऊपर में जो 7000 रुपए प्रति कुंतल बिक गई थी, उसके भाव वर्तमान में 5600/5625 रुपए प्रति कुंतल रह गए। आगरा में 42 प्रतिशत कंडीशन सरसों के भाव 6050 रुपए प्रति कुंतल बोले गए। देश के विभिन्न मंडियों में सरसों की आवक घटकर 4/4.50 लाख बोरी दैनिक की हों रही है। सरसों का उत्पादन मुख्यत: राजस्थान, हरियाणा, उत्तर प्रदेश, गुजरात, मध्य प्रदेश, पंजाब, छत्तीसगढ़, बंगाल इत्यादि राज्यों में होता है, बिजाई का रकबा बढ़ने तथा अनुकूल मौसम होने के कारण इस वर्ष सरसों की फसल काफी अच्छी हुई है। रबी सेमिनार में सरसों का उत्पादन 113 लाख टन के लगभग होने की संभावना व्यक्त की गई है। जबकि सरकारी अनुमान 128 लाख टन से अधिक लगाया गया है। सरकार द्वारा समर्थन मूल्य में बढ़ोतरी किए जाने इस वर्ष किसानों का रुझान सरसों की तरफ बढ़ा है 2023-2024 के लिए सरसों का समर्थन मूल्य 5450 रुपए निर्धारित किया गया है देश अधिकांश मंडियों में सरसों के भाव समर्थन मूल्य से नीचे बिक रहे है जिसके कारण निचले स्तर पर स्टाकिस्ट बिकवाली से पीछे हटने लगे हैं। दूसरी अंतर्राष्ट्रीय बाजार में मांग बढ़ने के कारण सोयाबीन व कूरड पाम

नोट – व्यापार अपने विवेक से करे हम किसी भी प्रकार की लाभ हानि कि जिमेदारी नहीं लेते हैं, यह मंडी भाव विभिन्न स्रोतों से एकत्रित करके इस पोस्ट के माध्यम से आप तक ताजा भाव लेकर हाजिर हुए हैं, अधिक जानकारी के लिए अपनी नजदीकी मंडी में मंडी भाव कॉन्फ्रम कर ले या पता कर लें। आशा करते हैं यह पोस्ट आपके लिए उपयोगी होगी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!