March 2, 2024
WhatsApp Group Join Now

देसी चना, तेजी मंदी रिपोर्ट, काबुली चना रिपोर्ट 25मई 2023

चना तेज़ी मंदी रिपोर्ट– नमस्कार किसान साथियों आज हम 25मई 2023 के तेजी मंदी रिपोर्ट लेकर एक बार फिर आपके सामने हाजिर हुए हैं, इस पोस्ट के माध्यम से हम देसी चना के बारे में जानेंगे सभी भाव के बारे मे जानेंगे , आइए अब हम विस्तार से जानते हैं, हमारी वेबसाइट पर देश की विभिन्न मंडियों के ताजा भाव अपडेट किया जाता है, जैसे हरियाणा, राजस्थान मंडी, हर रोज ताजा मंडी भाव सबसे पहले और स्टिक जानकारी के लिए हमारी वेबसाइट पर विजिट करें, www.haryanamandibhav.com

देसी चना- अभी ज्यादा तेजी मंदा नहीं
इस समय स्टॉकिस्टों की लिवाली देसी चने में बिल्कुल समाप्त हो गई है, क्योंकि सरकारी पोर्टल पर लोड करने की दहशत बनी हुई है। यही कारण है कि जो पिछले दिनों के भाव में कारोबारियों ने माल खरीदा था, उसको काटने में लगे हैं। उधर उत्पादक मंडियों में भी हल्के भारी माल की आवक बढ़ गई है, जिससे बाजार राजस्थानी चने के 5050 रुपए प्रति क्विंटल लॉरेंस रोड खड़ी मोटर में पर सुस्त हो गए हैं। हम मानते हैं कि मंडियों में आवक का दबाव नहीं है, लेकिन सरकार द्वारा भी माल 18 लाख मीट्रिक टन खरीद लिया गया है। पिछले साल सरकार द्वारा बिकवाली को देखते हुए स्टाकिस्टों में घबराहट है, जिससे तेजी में थोड़ा समय लगेगा।

राजमा इस बार तेजी का व्यापार नहीं
भूटानी एवं गन्ना माल प्रचुर मात्रा में मंडियों में मिल रहा है तथा बिक्री उस हिसाब से नहीं है। देसी चना सहित अन्य दालें सस्ती बिकने से राजमां चित्रा का व्यापार स्टॉक के लिए बिल्कुल नहीं हो रहा है। केवल जरूरत का व्यापार रह गया है तथा ढाबा एवं रेस्टोरेंट सहित बल्क में खपने वाला माल, हल्की क्वालिटी के उसकी पूर्ति कर रहे हैं, इन परिस्थितियों में ब्राज़ील, इथोपिया एवं चाइना के भाव यही घूमते रहेंगे बढ़िया माल की शॉर्टज है, लेकिन उसके लिवाल कम हैं।

तेजी से काबली चने के अंतर्राष्ट्रीय बाजारों में
भाव इंदौर भोपाल के साथ-साथ कर्नाटक की मंडियों में ऊंचे जरूर चल रहे हैं,
लेकिन उत्तर भारत में ग्राहकी कमजोर होने से 4-5 दिन पहले जो काबुली चना
8400/8500 रुपए महाराष्ट्र का बिक गया था, उसके भाव 8800/9000 रुपए
हो गए थे। आप 2 दिनों से कराकर कमजोर होने से बाजार 200-300 घट गए
हैं, लेकिन इस करेक्शन के बाद माल की कमी होने तथा उत्पादक मंडियों के तेज
समाचार से फिर बाजार बढ़ जाएंगे। मोटे मालों में भी 400/500 रुपए की गिरावट
के बाद बाजार आगे चलकर बढ़ जाएगा। इस बार काबुली चने की जड़ में मंदा नहींहै।
काबुली चना- करेक्शन के बाद तेजी आएगी

मटर- कुछ दिन के बाद तेजी
हालांकि विदेशी मटर कोई आने वाली नहीं है तथा देसी मटर का उत्पादन कम जरूर हो गया है, लेकिन पिछले दिनों स्टाकिस्टों द्वारा काफी माल खरीद कर लिया गया है तथा खपत वाली मंडियों में भी ललितपुर झांसी लाइन से रैक के माल पहुंच गए हैं। सरकारी पैनिक चलने से एक बार मटर का भी व्यापार कम हो गया है, इन परिस्थितियों में कुछ दिन सुस्ती रहेगी, लेकिन मंदे का व्यापार बिल्कुल नहीं करना चाहिए। आगे चलकर बाजार मटर का तेज हो जाएगा। अभी कुछ बाहरी ट्रेड के कारोबारियों के माल कटने बाकी हैं।

नोट – व्यापार अपने विवेक से करे हम किसी भी प्रकार की लाभ हानि कि जिमेदारी नहीं लेते हैं, यह मंडी भाव विभिन्न स्रोतों से एकत्रित करके इस पोस्ट के माध्यम से आप तक ताजा भाव लेकर हाजिर हुए हैं, अधिक जानकारी के लिए अपनी नजदीकी मंडी में मंडी भाव कॉन्फ्रम कर ले या पता कर लें। आशा करते हैं यह पोस्ट आपके लिए उपयोगी होगी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!