March 2, 2024
WhatsApp Group Join Now

चावल और गेहूं की तेजी और मंदी रिपोर्ट देखे रिजर्व मूल्य घटाने पर जोर दिया था। सरकार ने इसे स्वीकार कर लिया।

चावल का भाव _ नमस्कार किसान साथियों आज हम 10जुलाई 2023 के ताजा मंडी भाव लेकर एक बार फिर आपके सामने हाजिर हुए हैं, इस पोस्ट के माध्यम से हम चावल व गेहूं को लेकर सरकार का रुख के बारे मे जानेंगे , सरसों रेट व खल के बारे में जानेंगे ,आइए अब हम सरसों भाव को विस्तार से जानते हैं, हमारी वेबसाइट पर देश की विभिन्न मंडियों के ताजा भाव अपडेट किया जाता है, जैसे हरियाणा, राजस्थान मंडी, हर रोज ताजा मंडी भाव सबसे पहले और स्टिक जानकारी के लिए हमारी वेबसाइट पर विजिट करें, www.haryanamandibhav.com


सरकार का चावल एवं गेंहू के बारे में बहुत बड़ा फैसला-मात्रा में अच्छी वृद्धि, चावल का रिजर्व मूल्य में कटौती_
केन्द्र सरकार ने घरेलू प्रभाग में खाद्यान्न की आपूर्ति और उपलब्धता बढ़ाने और कीमत को घटाने के उद्देश्य से खुले बाजार बिक्री योजना (ओएमएसएस) के तहत 50 lakh tan गेहूं तथा 25 लाख टन चावल को खुले बाजार में उतारने का फैसला किया है। पहले गेहूं की मात्रा 15 लाख टन नियत की गई थी जबकि चावल की किसी निश्चित मात्रा का निर्धारण नहीं हुआ था।

इसी तरह सरकार ने चावल का न्यूनतम आरक्षित मूल्य (रिजर्व प्राइस) 3100 रुपए प्रति क्विंटल से 200 रुपए घटाकर अब 2900 रुपए प्रति क्विंटल निर्धारित किया है। मालूम हो कि गेहूं का आरक्षित मूल्य एफएक्यू के लिए 2150 रुपए प्रति क्विंटल तथा यूआरएस के लिए 2125 रुपए प्रति क्विंटल निर्धारित है। चावल के रिजर्व मूल्य में हुई कटौती से जो अतिरिक्त खर्च बढ़ेगा उसे मूल्य स्थिरीकरण कोष वहन करेगा। दअसल अब तक चावल के लिए हुई पांच साप्ताहिक ई-नीलामी में खरीदारों ने ऊंचे मूल्य का हवाला देते हुए खरीद में बहुत कम दिलचस्पी दिखाई थी।

और रिजर्व मूल्य घटाने पर जोर दिया था। सरकार ने इसे स्वीकार कर लिया। आधिकारिक आंकड़ों के अनुसार पिछले साल की तुलना में चालू वर्ष के दौरान गेहूं के खुदरा मूल्य एवं थोक बाजार भाव में 7 अगस्त 2023 तक क्रमश: 6.77 प्रतिशत एवं 7.37 प्रतिशत का इजाफा दर्ज किया गया। इसी तरह समीक्षाधीन अवधि के दौरान चावल के औसत खुदरा मूल्य में 10.63 प्रतिशत तथा थोक बाजार भाव में 11.12 प्रतिशत की बढ़ोत्तरी हो गई। देश के 140 करोड़ से अधिक लोगों के फायदे को ध्यान में रखकर सरकार ने ओएमएसएस के तहत गेहं एवं चावल की बिक्री की मात्रा बढ़ीने तथा चावल के रिजर्व मूल्य में 200 रुपए प्रति क्विंटल की कटौती करने का निर्णय लिया है।

ताकि घरेलू बाजार में इसकी आपूर्ति एवं उपलब्धता बढ़ सके। कीमतों में वृद्धि पर अंकुश लग सके और खाद्य महंगाई को नियंत्रित करने में सहायता मिल सके। ज्ञात हो कि सरकार प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना के तहत राशन कार्ड धारकों को मुफ्त में खाद्यान्न (चावल तथा गेहूं) भी निश्चित मात्रा में उपलब्ध करवा रही है।
नोट – व्यापार अपने विवेक से करे हम किसी भी प्रकार की लाभ हानि कि जिमेदारी नहीं लेते हैं, यह मंडी भाव विभिन्न स्रोतों से एकत्रित करके इस पोस्ट के माध्यम से आप तक ताजा भाव लेकर हाजिर हुए हैं, अधिक जानकारी के लिए अपनी नजदीकी मंडी में मंडी भाव कॉन्फ्रम कर ले या पता कर लें। आशा करते हैं यह पोस्ट आपके लिए उपयोगी होगी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!